गर्भावस्था में क्या न करे 20 important tips 

Table of Contents

गर्भावस्था में क्या न करे 20 important tips 

गर्भावस्था में क्या न करें :- किसी भी महिला के लिए Pregnancy का सफ़र आसान तो नही होता, लेकिन एक नए जीवन को जन्म देने का अनुभव एक महिला और घर के सभी सदस्यों के लिए काफी सुखद होता है, इसलिए जरुरी है, की प्रेगनेंसी के दरम्यान प्रेग्नेंट महिला की अच्छे से Care करना घर के सभी सदस्यों की जिम्मेदारी होती है। साथ ही कुछ बातें ऐसी बाते जानना आप के लिए आवश्यक है, जिस से प्रेगनेंसी के दौरान खतरा बढ़ जाता है, इसलिए प्रेगनेंसी में क्या नही करना चाहिए? यह एक महत्वपूर्ण टॉपिक हो जाता है।

गर्भावस्था में क्या न करे
गर्भावस्था में क्या न करे

भारी वज़न ना उठाएं

Pregnancy के दौरान भारी वज़न ना उठाएं , गर्भावस्था के दौरान भरी वजन जैसे कि पानी से भरी बाल्टी ,सील-बट्टा ,भारी कुर्सी, बक्सा इत्यादि ना उठायें।किसी एक जगह बहुत देर तक ना खड़े रहे, यदि आपको किचन में बहुत देर तक खड़ा होना पड़ता है तो चाहें तो वहां एक कुर्सी रख लें।

सीढ़ियों का प्रयोग कम से कम करें

गर्भावस्था के दौरान सीढ़ियों का प्रयोग कम से कम करें। यदि आप ground floor पर नहीं रहती हैं और मजबूरी में आपको नीचे जाना पड़ता है तो कोशिश करें कि एक ही बार में अपने सारे काम निपट जाएँ। इसके लिए आप  दैनंदिन आवश्यक वस्तुओं एवं  कार्य की एक कार्य-सूची बना लें और उस के हिसाब से सभी कार्य एक ही बार करें। सीढियों से उतरते समय  साइड में लगा रेलिंग पकड़ कर ही उतरें।

हील वाली सैंडल या चप्पल ना पहने 

अगर आप थोड़ी फैशनेबल टाइप की औरत है और हिल वाली सैंडल या चप्पल पहनती है तो आप को गर्भावस्था के दौरान हील वाली सैंडल या चप्पल नहीं पहननी चाहिए।  इस दौरान आप flat चप्पल ही पहनें, यदि आप office जाती  हैं तो flat sandals का ही प्रयोग करें।

बाहरी खाने से बचें 

गर्भावस्था के दौरान आप को अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना होता है, इसलिए बाहरी खाना ना लें, खासतौर पे junk foods, जैसे कि pizza, burger,etc. होटलों, शादी-ब्याह वगैरह में भी ना खाएं, इनकि शुद्धता की गारंटी नहीं होती और आपको infection हो सकता है।  साथ ही तला और मसालेदार न खाएं, इनसे गैस , acidity , जलन हो सकती है। प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए? इस के लिए आप हमारा यह आर्टिकल पढ़ सकती है। ( यहाँ क्लिक करें)

खुद के मन से दवाइयों का सेवन ना करें 

Pregnancy के दौरान बिना अपनी gynecologist  की सलाह के दवाओं का सेवन ना करें। यहाँ तक कि छोटी -मोटी बीमारियों के लिए भी अपने से दावा ना लें। अगर आप को दवाइयों की आवश्यकता ही है तो आप को अपने gynecologist या डॉक्टर्स या किसी विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए।

किस तरह की लम्बी यात्रा से बचें 

प्रेगनेंसी के दौरान कम से कम यात्रा करें। यदि इस दौरान आप यात्रा करते तो सुरक्षित वाहनों से ही करें , दो  पहिया, तीन  पहिया  वाहन  avoid करें । यदि आपको मजबूरी में public transport से office जाना भी पड़े तो odd-timings में ही बस पकडें, जब भीड़ कम से कम हो।

तनाव रहित जीवन का आनंद लें 

गर्भावस्था के दौरान तनावपूर्ण या डरावने serials या movies ना देखें। और ना ही ऐसी कथाओं और कहानियों को पढ़ें।प्रेगनेंसी के दौरान तनाव रहित जीवन का आनंद लें, इस दौरान ऐसा कोई काम ना करें  जिसमे आपको अत्यधिक तनाव का सामना करना पड़े।प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी प्रकार का तनाव या नकारात्मकता की स्थिति आप के पेट में पल रहे शिशु पर सीधा असर दाल सकती है जिस से शिशु विकलांग अवस्था में जन्म ले सकता है। इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान सकारात्मक रहना काफी महत्वपूर्ण है।

तंग कपड़ों से परहेज करें/ आरामदायक कपड़े पहने 

गर्भावस्था के दौरान आपका शरीर काफी बदल जाता है। तो, आपको ऐसे कपड़े पहनने की जरूरत पड़ती है जो न केवल आरामदायक हों, बल्कि आपके बढ़ते शरीर के लिए भी उपयुक्त हों। गर्भावस्था के दौरान कई तरह के शरीरिक बदलाव से गुजरना पड़ता है, जिस में शरीर का आकर बढ़ना भी शामिल होता है। इस दौरान तंग कपडे ना पहने, जिस से आप हो असहज महसूस हो।

मोबाइल का इस्तेमाल कम करें 

कुछ अध्यनो में पता चला है कि pregnancy के दौरान mobile फ़ोन का अत्यधिक इस्तेमाल होने वाले बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है।मोबाइल फोन से निकलने वाली रेडिएशन सेहत के लिए हानिकारक होती हैं और अगर आप प्रेगनेंट हैं तो मोबाइल का इस्‍तेमाल न सिर्फ आपको बल्कि आपके गर्भस्‍थ शिशु को भी नुकसान पहुंचाता है।

अकेले ना रहें 

प्रेगनेंसी के दौरान  आप को कभी भी किसी की भी जरूरत पड सकती है, एस में आप का अकेले रहना भी आप के लिए काफी परेशानी वाला हो सकता है, इसलिए कोशिश करें की आप अकेले ना रहे.यदि अकेले रहती हों तो हमेशा अपना mobile recharge करा कर रखिये।

खड़े होकर ना नहायें 

इस दौरान आप कभी भी बाथरूम में खड़े होकर ना नहाएं, और इस बात की पुष्टि करें की काई-वगैरे जमने से फिसलने का खतरा ना हो। नियमित तुअर पर बाथरूम को साफ सूत्रा रखें।

धुम्रपान ना करें 

Pregnancy के दौरान smoking कत्तई ना करें, और किसी और को अपने करीब धूम्र-पान ना करने दें. Passive smoking से भी बच्चे को खतरा हो सकता है।

कैफीन का सेवन ना करें 

कैफीन का सेवन avoid करें, इसलिए Coffee,Soda,Green and Black Tea,Cold Drinks से बचें।  Chocolate में भी caffeine होता है मगर कम मात्र में, इसलिए कभी-कभार chocolate ले सकती हैं.

ट्यूना मछलियों का सेवन ना करें 

कुछ मछलियाँ जैसे कि ट्यूना मछली,king mackerel, tilefish , इत्यादि में mercury अधिक मात्र में होता है, इन्हें ना खाएं. इनके सेवन से शिशु के मस्तिष्क का विकास प्रभावित हो सकता है।

क्या-क्या नही खाना चाहिए यह जाने 

 पहले तीन महीने में इन चीजों का सेवन ना करें –  soft unpasteurised cheeses,कच्चे अंडे , salad dressings, raw fish, processed meats such as sausages and also meat spreads. इन चीजों में कुछ ऐसे बैक्टेरिया होते हैं जो  salmonella, toxoplasmosis and listeriosis, जैसे disorder cause कर सकते हैं, जिससे बच्चे में जन्मजात दोष आ सकते हैं। प्रेगनेंसी में कौन सी सब्जी नही खानी चाहिए? इस सम्बन्धी हमारा यह आर्टिकल अवश्य पढ़ें ( क्लिक करें )

पालतू जानवरों से दूर रहे 

अपने पालतू जानवरों के मल से बचें.उनमें Toxoplasma gondii नामक एक harmful पेरासाईट  हो सकता है जो foetus के मस्तिष्क को damage कर सकता है।

तेज गंध से बचे 

प्रेगनेंसी के शुरवाती दिनों में मूड स्विंग होना, उलटी या मतली की समस्या आम होती है इस से बचने के लिए  शुरवाती दिनों में याने पहले तीन महीने  तेज गंध के बीच ना जाएं, इससे आपको मितली , उल्टी, होने के chances कम होंगे।

उछल कुद ना करें 

प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी तरह की उछल्-कूद आप के और आप के पेट में पल रहे शिशु के लिए काफी हानिकारक हो सकती है, ऐसे में उछल-कूद बिलकुल ना करें। और ऐसी कोई भी activity ना करें जिसमे गिरने का खतरा हो।

डॉक्टर्स की सलाह के बिना व्यायाम और योग ना करें 

प्रेगनेंसी में व्यायाम और योगासन करना फायदेमंद साबित होता  है लेकिन प्रेगनेंसी में कौन से व्यायाम और योगासन करने चाहिए इस की जानकारी आवश्यक है, बिना डाक्टरी सलाह के कोई व्यायाम या योगासन  ना करें। नार्मल डिलीवरी टिप्स में हम ने व्यायाम और योगाभ्यास के कुछ टिप्स दिए है, जो आप पढ़ सकते है।

कम ना खाएं 

गर्भावस्था के दौरान आप के साथ साथ आप के शिशु का भी विकास होता है, ऐसे में कम ना खाएं, आप usually जितना खाती हैं उससे अधिक खाएं। आमतौर पर एक शिशु को 300 कैलोरी की आवश्यकता होती है, इसलिए कम से कम इतनी कैलोरिज़ और लें। ये भी ध्यान रखें की कहीं आप जरूरत से ज्यादा तो नहीं खा रही हैं.

प्यासे ना रहे

प्रेगनेंसी में शरीर में पानी की कम मात्र आपको डिहाइड्रेशन क शिकार बना सकती है, इसलिए प्यासे ना रहे। समय समय पर पानी पीते रहे, इससे blood circulation सही रहेगा। अगर आप कम पानी पीती है तो उस से डिहाइड्रेशन का खतरा बढ़ सकता है और  Dehydrated होने पर premature delivery का खतरा होता है।

पेट के बल ना सोएं

डॉक्टर प्रेग्नेंट महिलाओं को पेट के बल सोने को मना करते हैं ताकि भ्रूण पर किसी तरह का दबाव न आएं । करवट लेने पर भी गर्भवती महिला को अजीब सा लगता है । जिन महिलाओं को पेट के बल सोने की आदत होती हैं , प्रेग्नेंसी में उन्हें सही तरह से सोने में भी दिक्कत आती हैं। यदि आप को जानना है की प्रेगनेंसी में कैसे सोये? तो आप हमारा गर्भावस्था में कैसे सोना चाहियें? यह आर्टिकल पढ़ सकते है।

संबोधन

यह थी २० ऐसी टिप्स जिसे आप को प्रेगनेंसी के दौरान नही करना चाहिए,  हमारे गर्भावस्था में क्या न करें के किस आर्टिकल में हम ने सभी जरुरी  बातों को बताया है जो आप को प्रेगनेंसी के दौरान अवॉयड करने चाहिए। अगर कोई बात हम से छुट गयी हो तो आप comment box में जरुर  बताएं। आप की बातों को विशषज्ञों से जानकर हम हमारे आर्टिकल में जगह देंगे।

गर्भावस्था में क्या न करे
गर्भावस्था में क्या न करे
Sharing Is Caring:

Leave a Comment